भर्ती की दौड़ और पैरों का दर्द – डॉ नीरज श्रीवास्तव आर्थोपेडिक सर्जन

आर्मी और पुलिस की भर्ती चल रही है , सब लोग दौड़ की प्रक्टिस कर रहे और कई लोगो को पैरों में बहुत दर्द होने लग रहा है ।अमूमन क्लिनिक में आजकल नौजवान ऐसी तकलीफ ले कर आते हैं । ये लेख मैं इसीलिए लिख रहा हूँ।पहले जानते हैं कि ये दर्द होता क्यों है !आपके पैर की हड्डी , जिसको टिबिया कहते हैं , उसके अंदरूनी तरफ जोर पड़ता है , जिससे वह दर्द करती है। अगर दौड़ जारी रखी गई दर्द के साथ तो कई बार हड्डी में फ्रैक्चर हो सकता है जिसको स्ट्रेस फ्रैक्चर कहते हैं। इसके कई कारण है , और इस से बचने का तरीका भी है 1. धीरे धीरे प्रक्टिस करना है । अचानक ही गति और समय बढ़ाने से तकलीफ हो सकती है 2. सड़क या कंक्रीट पर नही दौड़ना है , मिट्टी या घास पर दौड़ना है 3 . नंगे पांव नही दौड़ना है , अछि क्वालिटी के जूते पहन कर दौड़ना है जिससे झटका काम लगे टिबिया हड्डी पर 4. वार्मअप कर के दौड़ना है। 5. हाई प्रोटीन और कैल्शियम लेना है जिससे हड्डिया दौड़ने का स्ट्रेस सह सके 6 . अगर दर्द बढ़ रहा हो तब दौड़ना रोकें और अपने चिकित्सक से मिले , वो आपको रेस्ट करवाएगा और अगर जरूरत पड़ी तो x रे करवाया जायेगा। अगर उसमे स्ट्रेस फ्रैक्चर है तब प्लास्टर लगाया जायेगा। 7 . अत्यधिक दर्द में आप अगर दर्द की दवा खा कर दौड़े , तब पूरा फ्रैक्चर हो सकता है दौड़ते वक़्त ही , और फिर बड़ा आपरेशन करना पड़ सकता है , इसीलिए कभी भी इसको हल्के में न ले । याद रखे कि अगर पैर सलामत रहेगा तो आप अगले साल की दौड़ भी निकाल सकते हैं । अगर किसी बंधु को और भी कोई सवाल हो तो कमेंट में पूछ सकते हैंडॉ नीरज श्रीवास्तवस्पोर्ट्स इंजरी विशेषज्ञस्कोपी क्लिनिकवाराणसी

#purvanchal_news #up_news #breaking_news #up_news_live #varanasi_news https://www.facebook.com/purvanchalnews.org https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/ https://twitter.com/PurvanchalNewsthttps://twitter.com/PurvanchalNewst

Share this news

You may have missed