दो साल से गांव में बह रहा मोहनसराय हाईवे का सीवरेज, नरक में जी रहे ग्रामीणों ने दि‍या अल्‍टीमेटम

वाराणसी। मोहनसराय के ग्रामीणों ने सोमवार को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण 19 के खिलाफ एकजुटता दिखाते हुए सीवरेज समस्या के खि‍लाफ प्रदर्शन कि‍या। ग्रामीणों का आरोप है कि‍ मोहनसराय- अदलपुरा वाया मातलदेई मार्ग पर मोहनसराय स्थित हाईवे का नाला जगह जगह क्षतिग्रस्त हो गया है। सफ़ाई के अभाव में गाँव में इसका अवजल विगत दो साल से ओवरफ़्लो होकर सड़क पर बह रहा है। वहीं समस्या का समाधान नहीं होने से नाराज़ ग्रामीणों ने मोहनसराय सड़क पर बहते सीवेज में खड़ा होकर ज़ोरदार धरना दिया। ग्रामीणों ने कहा कि दो साल पुरानी सीवरेज समस्या है। इसका स्थानीय प्रशासन और प्राधिकरण 72 घंटे के अंदर स्थायी रूप से हल नहीं निकालता है तो उनका धरना व्यापक रूप ले लेगा। लोगों ने हाइवे प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की, जिसमें इलाके के पूर्वांचल किसान यूनियन, दलित फ़ाउंडेशन, पंचायत प्रतिनिधि, मनरेगा मज़दूर यूनियन और व्यापारियों ने पूरा साथ दिया।लोगों ने कहा कि कि मोहनसराय- हंडिया राजमार्ग क्षेत्र का सबसे व्यस्त चौराहा होने के बावजूद यहाँ उपर्युक्त मार्ग पर सीवरेज बहने से समस्या से त्राहि-त्राहि मचा है। उन्होंने इस समस्या को लेकर आलाधिकारियों तक गुहार लगायी किंतु आश्वासन के अलावा कुछ हासिल नहीं हुआ। स्थिति यह पैदा हो चुकी है लोगों का इस इलाके में रहना एक तरह से मुसीबत बन चुका है। शादी विवाह आयोजन आदि में समस्या हो रही है। विगत दो साल से यहाँ एक भी बारात नहीं आयी है। मजबूरन लोगों को शादी विवाह आदि कार्यक्रमों के लिए लान में जाना पड़ रहा है। यही हालत रहेगा तो लोग यहां से पलायन करने को विवश होंगे। लोगों का कहना था कि दस मिनट की बारिश से पूरा इलाका गंदे पानी से डूब जाता है। गंदा पानी उनके घरों में घुस जाता है। बीमारियाँ फैल रही हैं और हमेशा मन में भय रहता है कि यही अवजल आगे और बीमारी फैला सकता है। सड़क ख़राब होने से दुर्घटना बढ़ गयी है तो वहीं दुकान धंधा चौपट होता जा रहा है। समस्या की जानकारी प्रशासन के कानों तक पहुंच चुकी है। इसके बावजूद लोगों की समस्या सुनने आजतक कोई नहीं आया। उधर, ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि 72 घंटे के अंदर सीवरेज समस्या का निवारण नहीं निकाला जाता हैं तो व्यापक आंदोलन कि‍या जाएगा। इस मौके पर राजकुमार गुप्ता, योगीराज सिंह पटेल, ललित यादव, मनोज राठौर, त्रिपुरारी, रामबली, अजय, लालजी, अनिल, पिंटू, सोनू, आशीष, रवि, कमला, धीरज, सुभाष, उमाशंकर, कल्लू, दीलिप, जयप्रकाश, नरेश, राजेश, विजय आदि मौजूद थे।

Share this news

You may have missed