किसानों की आय बढ़ाने में अहम साबित हो सकते हैं एफपीसी

पिंडरा। पूर्वांचल की तरह दक्षिण भारत के भी किसानों की जोत कम है, खेत छोटे हैं। बावजूद इसके वह प्रति एकड़ लाखों रुपए की कमाई करते हैं। वजह साफ है दक्षिण भारत के किसान एक एकड़ खेत में वैज्ञानिक तरीके से फलों और सब्जियों की खेती करते हैं जिससे उन्हें लाखों की आमदनी होती है दूसरी तरफ पूर्वांचल के किसान परंपरागत खेती तक ही सीमित हैं। अपनी उपज का सही दाम पाने और कौन सी उपज पैदा करें। इसके लिए सरकार ने फार्मर प्रड्यूसर कंपनियों की स्थापना में मदद की है। शनिवार को मकसूदन पट्टी में बनारस बड़ागांव बीकीपर्स प्रोड्यूसर कंपनी के कंप्यूटर कक्ष के उद्घाटन के मौके पर नाबार्ड के डीडीएम अनुज कुमार सिंह ने मौजूद किसानों और कंपनी के निदेशकों को संबोधित करते हुए कहाकि यह आपकी कंपनी है। इसमें कोई सरकार का नियंत्रण नहीं है आप इसे इस तरह से संचालित करें जिससे कंपनी को लाभ मिले साथ ही किसानों को भी उनकी आमदनी बढ़ाने में सहायता हो।पहले जिस तरह सहकारिता मॉडल के जरिए किसानों तक पहुंच की कोशिश की जाती थी उस क्रम में डिजिटल इंडिया के तहत यह प्रयास है किसानों को अब किसी अधिकारी के यहां जाने की जरूरत नहीं बल्कि वह सभी तरह के आवेदन ऑनलाइन कर सकता है योजनाओं की जानकारी और उसके क्रियान्वयन में हो रही बाधा को दूर करने के लिए एफपीसी के कर्मचारी मदद गार होंगे। इस मौके पर कंपनी के चेयरमैन पवन सिंह ने बताया कि यहां पर सीएससी स्थापित की जा रही है एपीके सदस्यों के लिए इसकी सेवाएं निशुल्क होगी दूसरे किसानों से भी मामूली पैसा लिया जाएगा लक्ष्य केवल इतना है कि इलाके के किसानों की आए बड़े और उन्हें सभी सरकारी योजनाओं का लाभ मिल सके। सरकारी आंकड़ों में वाराणसी में दो लाख से अधिक किसान हैं लेकिन इनमें एक बड़ी संख्या किसान क्रेडिट कार्ड से वंचित है । यह जागरूकता ना होने और सरकारी योजनाओं के प्रति उनकी उदासीनता को दर्शाता है। आप संगठित होकर के अपने हक के लिए एफपीसी की मदद ले सकते हैं। कार्यक्रम में कंपनी के सीईओ पीयूष सिंह, सीबीबी के जिला समन्वयक विकास दीक्षित, कंपनी निदेशक सुनील कुमार सिंह, रीना सिंह, मंगला राजभर, रंजीत सिंह, विजय समेत दर्जनों की संख्या में लोग मौजूद थे। ।

#purvanchal_news #up_news #breaking_news #up_news_live #varanasi_news https://www.facebook.com/purvanchalnews.org https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/ https://twitter.com/PurvanchalNewsthttps://twitter.com/PurvanchalNewst

Share this news

You may have missed