हत्या में नामजद शातिर मुठभेड़ में घायल

  • फूलपुर में नेशनल इंटर कॉलेज के सामने तीन साथियों के साथ मारी थी गोली
  • घेराबंदी देख बदमाश ने पुलिस पर शुरू की फायरिंग, जवाबी कार्रवाई में घायल

पिंडरा।

नेशनल इंटर कॉलेज मैदान के सामने सोमवार को दिनदहाड़े युवक की हत्या में नामजद जौनपुर के केराकत के कटहरी निवासी शातिर अपराधी 25 हजार के इनामी सदानंद उर्फ झगड़ू यादव को पुलिस मुठभेड़ में दबोच लिया। शातिर झगड़ू पर हत्या, लूट, डकैती समेत कई अन्य अपराध में कुल नौ मुकदमे दर्ज हैं। आठ मुकदमे जौनपुर के जलालपुर, केराकत थाने में हैं।
फूलपुर पुलिस गश्त पर थी। तभी सूचना मिली कि हत्या में शामिल सदानंद अपने साथियों के साथ बोलोरो से करखियांव से गुजर रहा है। सूचना पर फूलपुर, बड़ागांव और एसओजी टीम ने घेराबंद की। करखियांव गेट के पास घेराबंदी की। खुद को घिरता देख सदानंद ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। बुलेट प्रूफ जैकेट के कारण एसओ अभिषेक राय बाल-बाल बच गए। पुलिस की घेराबंदी देख वह बोलोरो से उतर कर खेत मे भागने लगे। जबावी फायरिंग में सदानंद को दाहिने पैर में गोली लगी। गोली लगते ही वह गिर गया। उसके पास से 32 बोर का असलहा, 3 खोखा व एक जिंदा कारतूस बरामद किया गया है।
इस बाबत सीओ पिंडरा ने बताया कि सुबह से हम लोग घटना में आरोपित के तलाश में लगे थे। जिसपर मुखबिर के जरिये सूचना मिली कि वह बाबतपुर क्षेत्र में है। जिसपर बड़ागांव एसओ को सूचना दी गई। जब वह पीछा किये तो वह पिंडरा फूलपुर मार्ग से होते हुए करखियाव पहुचा तभी पहले से सूचना पर एसओ फूलपुर ने रोकने का इशारा किया तो वह उनके ऊपर फायरिंग कर भागने लगा। जिसके बाद वह मुख्य मार्ग को छोड़ कर करखियाव कथेरवा मार्ग से बोलोरो लेकर भागने लगे। जिसपर आगे से एस आई योगेंद्र यादव पुलिस कर्मियों समेत घेर लिया। पुलिस से घेरता देख वह खेत मे बोलोरो कूदा दिया। और भागने लगे। जिसपर जबावी फायरिंग में बदमाश के पैर में गोली लगी। वही तीन अन्य बदमाशों के अंधेरे में फरार हो गए। पुलिस टीम फरार बदमाशों के तलाश में जुट गई।
मुठभेड़ की सूचना पर एसपी ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी, एसपीआरए नीरज पांडेय, सीओ डॉ अतुल अंजान त्रिपाठी समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुच गए।

पुलिस टीम में यह रहे मुठभेड़

सीओ पिंडरा डॉ अतुल अंजान त्रिपाठी के नेतृत्व में थाना प्रभारी फूलपुर अभिषेक राय, बड़ागांव अश्वनी चतुर्वेदी, क्राइम ब्रांच के सिपाही रामशंकर यादव, चन्द्रसेन सिंह,कुलदीप सिंह, करखियाव चौकी इंचार्ज अजय यादव, एस आई योगेंद्र यादव समेत थाने के अन्य सिपाही रहे।

Share this news