खुद को आईपीएस बताकर छात्राओं को ब्लैकमेल करने वाला अरेस्ट,वाराणसी की पुलिस ने झांसी से दो साइबर क्रिमिनल को पकड़ा

खुद को आईपीएस अधिकारी बताकर लड़कियों के न्यूड वीडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल कर रुपए ऐंठने वाले साइबर क्रिमिनल और उसके साथी को वाराणसी कमिश्नरेट की पुलिस ने झांसी से गिरफ्तार किया है। आरोपियों की शिनाख्त गिरोह के सरगना झांसी जिले के गुरसराय थाना के सरसेड़ा निवासी चंद्रपाल परिहार और उसके साथी सगरा निवासी मोहम्मद नासिर के तौर पर हुई है। दोनों के खिलाफ लंका थाने में बीएचयू की दो छात्राओं की तहरीर के आधार पर दो मुकदमे दर्ज किए गए थे। दोनों आरोपियों से कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच के अफसर पूछताछ कर रहे हैं। पूछताछ की प्रक्रिया पूरी होने के बाद दोनों को अदालत में पेश कर जेल भेजा जाएगा।
यह था अपराध करने का तरीका

चंद्रपाल परिहार खुद को IPS अफसर अंकित गुप्ता बताकर कॉलेज-यूनिवर्सिटी की छात्राओं और महिलाओं को वाट्स ऐप कॉल करता था। अपने वॉट्स ऐप नंबर की डीपी पर वह DIG लिख रखता था। कॉल करके वह कहता था कि मैं लखनऊ से बोल रहा हूं। तुम्हारी अश्लील फोटो और वीडियो वायरल हो रही है। तुम न्यूड होकर अपनी बॉडी मैच कराओ।

इधर से महिला पुलिसकर्मी वीडियो कॉल पर तुम्हारी बॉडी मैच करेंगी। तुम्हारे पास जल्द ही लोकल पुलिस भी जाएगी। यदि छात्रा या महिला मना करती थी तो उसे धमकाता था कि सहयोग नहीं करोगी तो अनावश्यक कानूनी पचड़े में फंस जाओगी।
जिस छात्रा या महिला के पास कॉल जाती थी वह चंद्रपाल की धमकी से डर कर वॉट्स ऐप कॉल पर न्यूड हो जाती थी और फिर वह फोटो या वीडियो बना लेता था। इसके बाद चंद्रपाल उसी फोटो या वीडियो के सहारे ब्लैकमेल कर नासिर के बैंक अकाउंट में पैसा मंगवाता था। दो मुकदमे दर्ज होने के बाद पुलिस ने सर्विलांस और बैंक अकाउंट की मदद से दोनों को ट्रेस कर पकड़ा है।
अन्य जिलों से भी जुटाई जा रही जानकारी

पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने दोनों आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करने का निर्देश लंका थाने की पुलिस को दिया है। कहा है कि अन्य जिलों की पुलिस से भी पता करें कि क्या चंद्रपाल और नासिर ने उनके यहां तो इसी तरह का साइबर क्राइम नहीं किया है।

साथ ही, पुलिस कमिश्नर ने अपील की है कि जिस किसी के साथ इस तरह की घटना हुई हो वह नि:संकोच तहरीर दें। घबराने या डरने से अपराधियों का मनोबल मजबूत होता है। जो भी तहरीर आएगी, उसके आधार पर आरोपियों के खिलाफ प्रभावी तरीके से कार्रवाई की जाएगी।

Share this news