कोर्ट में बृजेश सिंह और त्रित्रुभवन सिंह के खिलाफ नहीं पूरी हुई जिरह, उसरी चट्टी हत्याकांड की सुनवाई 12 अक्‍टूबर को

गवाह के न आने से नहीं हो सकी जिरह

देवकली पंप कैनाल लूट कांड मामले में मंगलवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शरद कुमार चौधरी के न्यायालय में गवाह अफरोज जेल से नहीं आया। इसके कारण जिरह की कार्रवाई नहीं हो सकी। इसके लिए 12 अक्टूबर की तिथि नियत की गई है। तीन दिसंबर 1990 को सुबह 7:30 बजे सरफराज अंसारी सैदपुर क्षेत्र में नहर में निर्मित कार्य कर रहा था। इसी दौरान त्रिभुवन सिंह, विजयशंकर सिंह, बृजेश सिंह व असलहाधारी दो अज्ञात व्यक्ति नीली मारुति कार से आए और मारपीट करने लगे। सरफराज के बैग में रखे रुपये छीन लिए। दहशत पैदा करके मजदूरों को भगा दिए। खड़े ट्रक के टायर में गोली मार कर फाड़ दिए। सरफराज की सूचना पर थाना सैदपुर में आरोपितों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ।

Share this news