वाराणसी विकास प्राधिकरण, वाराणसी

वाराणसी रोप-वे की पायलट परियोजना में कैंट स्टेशन के सर्कुलेशन एरिया में रोप वे के लिए चिन्हित भूमि को लीज करने हेतु उत्तर रेलवे, एनएचएलएमएल एवं वाराणसी विकास प्राधिकरण के मध्य एमओयू संपादित

नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक मैनेजमेंट कंपनी लि. जो कि NHAI के पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी है, को वाराणसी रोप-वे परियोजना को क्रियान्वयन करने हेतु नामित किया गया है। नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक मैनेजमेंट कंपनी लि. (NHLML) द्वारा परियोजना के एलाइनमेंट का विस्तृत अध्ययन कर पुनः फीजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार कर दिनांक 14.05.2022 को हाइब्रिड एन्यूटी मॉडल (HAM) पर निविदा आमंत्रित की गई थी जो दिनांक 15.07.2022 को खोली जायेगी। परियोजना की नवीन फीजिबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार परियोजना मैं 5 स्टेशन प्रस्तावित किए गए है, जिसमें प्रथम स्टेशन कैंट स्टेशन, उसके बाद विद्यापीठ स्टेशन, रथयात्रा स्टेशन, गिरजा घर क्रॉसिंग, जोकि टर्निंग स्टेशन होगा तथा अंतिम स्टेशन गोदौलिया चौक पर प्रस्तावित किया गया है। परियोजना में एलाइनमेंट की कुल लंबाई 3.750 किलोमीटर निर्धारित की गई है।

प्रथम स्टेशन हेतु कैंट स्टेशन के सर्कुलेशन एरिया में रोप वे स्टेशन निर्माण हेतु चिन्हित 3000 वर्गमीटर भूमि तथा रोप वे 03 टावर केआर निर्माण हेतु (प्रत्येक टावर हेतु 6mx6m= 36 वर्गमीटर) चिन्हित भूमि को उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से वाराणसी विकास प्राधिकरण को लीज पर दिये जाने के प्रयोजन से उत्तर रेलवे, एनएचएलएमएल, नई दिल्ली एवं वाराणसी विकास प्राधिकरण के मध्य एमओयू संपादित किया गया है।

एमओयू के अनुसार वाराणसी विकास प्राधिकरण रेलवे की भूमि को लीज पर लेने हेतु रेलवे को निर्धारित प्रक्रिया के अंतर्गत लीज आवेदन तथा तथा परियोजना में स्टेशन एवं टावर इत्यादि के ले-आऊट प्लान आवेदित करेगा तथा प्रक्रिया पूर्ण होने तथा निर्धारित लेज शुल्क के भुगतान के पश्चात रेलवे द्वारा कैंट स्टेशन के सर्कुलेसन क्षेत्र में स्टेशन एवं टी1 टी2 ईएएम टी3 टावर निर्माण की अनुमति प्रदान की जायेगी।

Share this news