चिकित्सक की लापरवाही पर भी जमकर बरसे परिजन अस्पताल में किसी चिकित्सक के न मिलने पर किया हंगामा।

पिंडरा।
एक तरफ सरकार रात्रि में सरकारी अस्पतालों में ओपीडी चलाने का दावा कर रही हैं तो दूसरी तरफ पिंडरा पीएचसी सरकार के इस आदेश को ठेंगा दिखाती नजर आ रही है। यह पोल उस समय खुल गई जब बोरवेल में गिरे बच्चे को लेकर परिजन पीएचसी पिंडरा पहुचे और काफी हो हल्ला और हंगामा शुरू के आधे घंटे बाद चिकित्सक सामने आए और बच्चे को देखने के बाद मृत घोषित कर दिया। जिसको लेकर परिजनों ने चिकित्सक को खूब खरी खोटी सुनाई। यही नही चिकित्सक ने नियम का भी नही पालन किया। न तो बच्चे की एंट्री की ना ही पुलिस को मेमो तक नही भेजा। जिससे पुलिस को समय से जानकारी नही हो पाई। जिसके कारण पुलिस को शव को लेने के लिए काफी मशक्कत व जलालत झेलनी पड़ी। मृत बच्चे के चचेरे भाई धर्मेंद्र यादव ने बताया कि 30 मिनट बाद एक चिकित्सक आये और देखने के बाद कहा मर गया है ले जाओ। कोई लिख कर कागज भी नही दिया। ग्रामीणों ने बताया कि दोपहर के बाद अस्पताल पर कोई चिकित्सक नही मिलता। यही नही खुद सीएमओ भी दो बार पकड़ चुके है। लेकिन स्थिति सुधरने का नाम नही ले रही है। इस बाबत प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ संतोष सिंह ने आरोप को बेबुनियाद बताया।

Share this news