गोरखपुर में मानवीयता को शर्मसार करने वाली घटना, आइसीयू में भर्ती किशोरी से अस्‍पताल कर्मी ने की छेड़खानी

गोरखपुर

आइसीयू में भर्ती किशोरी से हास्पिटल का कर्मचारी छेड़खानी कर रहा था। विरोध करने पर उसकी पिटाई कर दी। स्वजन से भी नहीं मिलने दिया। रात में पहुंचे पिता को किशोरी ने घटना की जानकारी दी। शिकायत पर छेड़खानी, पाक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कर कैंट पुलिस ने महराजगंज जिले के रहने वाले आरोपित कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया। उसे कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया।

यह है मामला

हरपुर-बुदहट क्षेत्र की रहने वाली किशोरी की तबीयत तीन जनवरी को बिगड़ गई। स्वजन उसे पैडलेगंज के हास्पिटल में ले आए। स्थिति गंभीर होने की जानकारी देते हुए डाक्टर ने किशोरी को आइसीयू में भर्ती कर दिया। रात में पहुंचे पिता को किशोरी ने बताया कि देखरेख में लगा कर्मचारी गलत तरीके से छूने के साथ ही कान में अश्लील बातें कर रहा है। विरोध करने पर उसने थप्पड़ मारकर चुप करा दिया।

अस्‍पताल प्रबंधन ने श‍िकायत पर नहीं द‍िया ध्‍यान

पिता ने हास्पिटल के मैनेजर व दूसरे कर्मचारियो से शिकायत की तो उन्होंने ध्यान नहीं दिया। जिसके बाद डायल 112 पर फोन करके जानकारी दी। पुलिस की मदद से बेटी को दूसरे हास्पिटल में भर्ती कराया। उसकी स्थिति में सुधार होने पर शुक्रवार की शाम कैंट थाने पहुंचकर महराजगंज जिले के परसामलिक थानाक्षेत्र के कोहरगद्दी गांव निवासी दिलीप यादव के खिलाफ तहरीर दी। प्रभारी निरीक्षक कैंट शशिभूषण राय ने बताया कि तहरीर के आधार पर छेड़खानी, अश्लील हरकत व पाक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज कर शनिवार की रात में आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया। रविवार को दोपहर उसे रिमांड मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया गया जहां से जेल भेज दिया गया।

Share this news