लड़कियों के विवाह की उम्र सीमा बढ़ाए जाने से महिला सशक्तिकरण को मिलेगी मजबूती, फैसला ऐतिहासिक – उर्वशी सिंह

कैबिनेट में लड़कियों के विवाह की आयु 21 वर्ष प्रस्ताव पारित होने पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान संयोजक – उर्वशी सिंहकेंद्र सरकार द्वारा लड़कियों के विवाह की उम्र की सीमा 18 से 21 वर्ष करने के प्रस्ताव को पारित करने का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान की संयोजक उर्वशी सिंह ने स्वागत किया है, उन्होंने इस प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति खुशी जताते हुए कहा कि जीवन में बड़ा लक्ष्य हासिल करने में मदद के लिए महिला सशक्तिकरण में मदद के प्रति यह एक ऐतिहासिक फैसला है,उर्वशी सिँह ने कहा कि नए प्रस्ताव से महिलाओं को और मजबूती मिलेगी तथा विवाह के बारे में खुद निर्णय लेने के अपने अधिकार को लड़कियां परिपक्व सोच के साथ रख सकेगी, 21 वर्ष की उम्र से पहले लड़कियों का विवाह नहीं करने देने से उन्हें अपनी पढ़ाई-लिखाई और कैरियर बनाने का अवसर मिल सकेगा, अभी तक पिछड़े और ग्रामीण क्षेत्रों में लड़कियों के 18 वर्ष का होते ही विवाह कर दिया जाता था, इससे उन्हें आगे बढ़ने का कम अवसर मिल पाता था, मोदी जी के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान के साथ इस फैसले से महिलाओं और बच्चियों के अंदर एक आत्मविश्वास आयेगा और खुद का निर्णय लेने का फैसला भी वह आत्मनिर्भर होकर ले सकेंगी

#purvanchal_news #up_news #breaking_news #up_news_live #varanasi_news https://www.facebook.com/purvanchalnews.org https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/https://www.instagram.com/purvanchalnewsorg/ https://twitter.com/PurvanchalNewsthttps://twitter.com/PurvanchalNewst

Share this news

You may have missed