मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में भाजपा लड़ेगी उत्तर प्रदेश का चुनाव डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या

वाराणसी। भाजपा की अहम् बैठक उत्तर प्रदेश चुनाव-2022 को लेकर बड़ा लालपुर टीएफसी में आज आयोजित है। इस बैठक की अध्यक्षता देश के गृहमंत्री अमित शाह करेंगे। ऐसे में इस बैठक में शिरकत करने के लिए पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों संग केंद्रीय मंत्री, प्रदेश प्रभारी, सीएम, डिप्टी सीएम का वाराणसी आगमन हो रहा है। इसी क्रम में वाराणसी पहुंचे डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने इस बैठक पर विस्तार से चर्चा की और कहा कि आगामी चुनाव में हम कमल के निशान पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में चुनाव लड़ेंगे और 300 से अधिक सीटों पर चुनाव जीतेंगे भी।वाराणसी में अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली बैठक पर उन्होंने उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि आप उसको सही दृष्टि से देखिये। अमित शाह जी का जब भी मार्गदर्शन होता है तो हमारी यानी भाजपा की ऐतिहासिक जीत होती है। 2014, 2017 और 2019 इस बात की गवाह है। 2022 के लिए हम सभी का मार्गदर्शन करने के लिए आ रहे हैं। काशी प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के नज़रिये से एक बड़ा केंद्र है और यहाँ हम लोग लम्बे समय से बैठते रहे हैं आज भी उसी क्रम में बैठक हैभारतीय जनता पार्टी आगामी चुनाव में कितनी सीटें पाएगी पर बोलते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि 300 से सीट तो भाजपा पाती नहीं है, जो शुरुआत हुई है 2014 से, चाहे लोकसभा के हिसाब से निकालिये चाहे विधानसभा के हिसाब से निकालिये। 300 पार थे 300 पार रहेंगे। विपक्ष के 400 के दावे पर उन्होंने कहा कि पहले उनसे पूछिए कि उनके 2014, 2017 और 2019 में भी दावे थे उसका क्या हुआ तो उनलोगों के सब दावे हवाहवाई होते हैं। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे दावे पुख्ता होते हैं और उसका इम्प्लीमेंट भी होता है। जनता का आशीर्वाद है और केंद्र और प्रदेश सरकार का कार्य जिसे लेकर हम चुनाव में जाएंगे। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि भाजपा तो हर समय नयी रणनीति के साथ और सभी विपक्षी अगर एक हो जाए तो उसे हारने के लिए तैयार रहती है। वहीं अखिलेश यादव और ओमप्रकाश राजभर के जिन्ना के सम्बन्ध में आये बयान पर कहा कि अब बहुत देर हो गयी है। जिन्ना तो दफ़न हो गए हैं अब नहीं आएंगे वो बाहर। सलमान खुर्शीद की किताब पर डिप्टी सीएम ने कहा कि मै कड़े शब्दों में निंन्दा करता हूं और तत्काल इस किताब जिसके द्वारा हिन्दू संगठनों और हिन्दू समाज का अपमान किया गया है, उस अंश को वापस लें। इसके अलावा सोनिया गांधी, जनेऊ धारी बनने वाले राहुल गांधी और पुजारिन बानी प्रियंका गांधी के दिल में भगवान् की असली भक्ति है या नकली भक्ति, दो दिन से यह प्रकरण चल रहा है लेकिन इन तीनों लोगों का कोई बयान मैंने नहीं देखा है।

Share this news

You may have missed